Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
Gk/GS

भारत के अंतर्राष्ट्रीय और राष्ट्रीय पुरस्कार परीक्षा की दृष्टि से अत्यधिक महत्वपूर्ण

दूसरों के साथ शेयर कीजिये

भारत के अंतर्राष्ट्रीय और राष्ट्रीय पुरस्कार

यहा भारत के अंतर्राष्ट्रीय और राष्ट्रीय पुरस्कार  पुरस्कार की सूची दी गई है , पुरस्कार से संबन्धित प्रश्न लगभग हर एक्जाम में पूछे जाते है | यहा जो सूची दी गई है वो आपकी नॉलेज को बढ़ाने मे आपकी मदद करेंगे |

भारत के अंतर्राष्ट्रीय और राष्ट्रीय पुरस्कार

भारत के अंतर्राष्ट्रीय और राष्ट्रीय पुरस्कार

भारत के अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार
अंतर्राष्ट्रीय गाँधी शांति पुरस्कार –
भारत सरकार द्वारा अंतर्राष्ट्रीय गाँधी शांति पुरस्कार भारत के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के नाम पर दिया जाने वाला वार्षिक पुरस्कार है। गांधी जी के शांति सिद्धांतों को श्रद्धांजलि स्वरूप, भारत सरकार ने यह पुरस्कार 1995 में उनके 125वें जन्म-दिवस पर आरंभ किया था। यह वार्षिक पुरस्कार उन व्यक्तियों या संस्थाओं को दिया जाता है, जिन्होंने सामाजिक, आर्थिक एवं राजनीतिक बदलावों को अहिंसा एवं अन्य गांधीवादी तरीकों द्वारा प्राप्त किया है। पुरस्कार में 1 करोड़ रुपये की धनराशि, प्रशस्तिपत्र और एक उत्तरीय दी जाती है। यह सभी राष्ट्रों, जातियों, लिंग के लोगों के लिए खुला है। प्रथम गाँधी शांति पुरस्कार 1995 में तंजानिया के प्रथम राष्ट्रपति के जूलियस नायरेरे को प्रदान किया गया था। 2009 में यह पुरस्कार द चिल्ड्रेन्स लीगल सेंटर को दुनिया भर में बाल मानवाधिकार को बढ़ावा देने के लिए दिया गया।
इंदिरा गाँधी शांति पुरस्कार –
इंदिरा गाँधी शांति पुरस्कार भारत की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की याद में दिया जाता है। 1984 में उनकी हत्या कर दी गई थी। उनकी स्मृति में स्थापित ‘इंदिरा गांधी मेमोरिल ट्रस्ट’ द्वारा वर्ष 1986 से ‘इंदिरा गांधी शांति, निरस्त्रीकरण और विकास पुरस्कार’ प्रति वर्ष विश्व के किसी ऐसे व्यक्ति को प्रदान किया जाता है जिसने समाज सेवा, निरस्त्रीकरण या विकास के कार्य में महत्वपूर्ण योगदान किया हो। इस पुरस्कार के अंतर्गत 25 लाख रुपए नकद, एक ट्रॉफी और प्रशस्तिपत्र प्रदान किया जाता है।
भारत के राष्ट्रीय पुरस्कार – (नागरिक पुरस्कार)
भारत रत्न –
भारत रत्न भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान है। यह सम्मान राष्ट्रीय सेवा के लिए दिया जाता है। इन सेवाओं में कला, साहित्य, विज्ञान, सार्वजनिक सेवा और खेल शामिल है। इस सम्मान की स्थापना 2 जनवरी 1954 में भारत के तत्कालीन राष्ट्रपति श्री राजेंद्र प्रसाद द्वारा की गई थी। प्रारम्भ में इस सम्मान को मरणोपरांत देने का प्रावधान नहीं था, यह प्रावधान 1955 में बाद में जोड़ा गया। तत्पश्चात् 13 व्यक्तियों को यह सम्मान मरणोपरांत प्रदान किया एक वर्ष में अधिकतम तीन व्यक्तियों को ही भारत रत्न दिया जा सकता है।
पद्म पुरस्कार 
पद्म पुरस्कार भारत के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कारों में से एक हैं। ये पुरस्कार, विभिन्न क्षेत्रों जैसे कला, समाज सेवा, लोक-कार्य, विज्ञान और इंजीनियरी, व्यापार और उद्योग, चिकित्सा, साहित्य और शिक्षा, खेल-कूद, सिविल सेवा इत्यादि के संबंध में प्रदान किए जाते हैं। ये पुरस्कार प्रत्येक वर्ष गणतंत्र दिवस के अवसर पर उद्घोषित किये जाते हैं तथा सामान्यतः मार्च/अप्रैल माह में राष्ट्रपति भवन में आयोजित किये जाने वाले सम्मान समारोहों में भारत के राष्ट्रपति द्वारा प्रदान किये जाते हैं।पद्म पुरस्कार तीन श्रेणियों में प्रदान किए जाते हैं। –1.    “पद्म विभूषण”  – असाधारण और विशिष्ट सेवा के लिए दिया जाता है |

2.    “पद्म भूषण” – उत्कृष्ट कोटि की विशिष्ट सेवा के लिए दिया जाता है |

3.    “पद्म श्री” – किसी भी क्षेत्र में विशिष्ट सेवा के फलस्वरूप प्रदान किया जाता है।

राष्ट्रीय बाल श्री सम्मान –
राष्ट्रीय बाल श्री सम्मान , 09 से 16 वर्ष के आयु वर्ग के रचनात्मक बच्चों के लिए भारत सरकार द्वारा प्रदत्त सम्मान है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय (भारत सरकार ) के स्वायत्त निकाय द्वारा राष्ट्रीय बाल भवन द्वारा दिए जाने वाले सम्मान में एक पट्टिका, एक प्रमाण पत्र शैक्षिक संसाधन और नकद पुरस्कार सम्मिलित हैं। राष्ट्रीय बाल श्री सम्मान प्रायः नई दिल्ली स्थित राष्ट्रपति भवन में भारत के राष्ट्रपति द्वारा दिया जाता है। बालश्री सम्मान भारत के 3 राष्ट्रपति पुरस्कारों में से एक है, बाल श्री देश का सर्वोच्च बाल पुरस्कार हैं।
राष्‍ट्रीय वीरता पुरस्कार –
राष्‍ट्रीय वीरता पुरस्कार भारत में हर वर्ष 26 जनवरी की पूर्व संध्या पर 8 से 16 वर्ष के आयु वर्ग के बहादुर बच्चों को दिए जाते हैं। भारतीय बाल कल्याण परिषद ने 1957 में ये पुरस्कार शुरु किये थे। पुरस्कार के रूप में एक पदक, प्रमाण पत्र और नकद राशि दी जाती है। सभी बच्चों को विद्यालय की पढ़ाई पूरी करने तक वित्तीय सहायता भी दी जाती है। 26 जनवरी के दिन ये बहादुर बच्चे हाथी पर सवारी करते हुए गणतंत्र दिवस परेड में सम्मिलित होते हैं।
भारतीय वीरता और शौर्य और शांति के लिए दिये जाने वाले पुरस्कार
वीरता के लिए  दिये जाने वाले पुरस्कार –
परम वीर चक्र –
परमवीर चक्र भारत का सर्वोच्च सैन्य अलंकरण है जो दुश्मनों की उपस्थिति में उच्च कोटि की शूरवीरता एवं त्याग के लिए दिया जाता है। 26 जनवरी 1950 को, इस पुरस्कार की स्थापना की गयी थी जब भारत “गणराज्य” घोषित हुआ था। भारतीय सेना के किसी भी अंग के अधिकारी या कर्मचारी इस पुरस्कार के पात्र होते हैं एवं इसे देश के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न के बाद सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार समझा जाता है। ज्यादातर स्थितियों में यह सम्मान मरणोपरांत दिया गया है।
महावीर चक्र –
महावीर चक्र भारत का युद्ध के समय वीरता का पदक है। यह सम्मान सैनिकों और असैनिकों को असाधारण वीरता या प्रकट शूरता या बलिदान के लिए दिया जाता है। यह मरणोपरान्त भी दिया जा सकता है। वरियता मे यह परमवीर चक्र के बाद आता है।
वीर चक्र –
वीर चक्र भारत का युद्ध के समय वीरता का पदक है। यह सम्मान सैनिकों और असैनिकों को असाधारण वीरता या प्रकट शूरता या बलिदान के लिए दिया जाता है। यह मरणोपरान्त भी दिया जा सकता है। वरियता में यह महावीर चक्र के बाद आता है।
शांति के लिए  दिये जाने वाले पुरस्कार –
किर्ती चक्र –
कीर्ति चक्र भारत का शांति के समय वीरता का पदक है। यह सम्मान सैनिकों और असैनिकों को असाधारण वीरता या प्रकट शूरता या बलिदान के लिए दिया जाता है। यह मरणोपरान्त भी दिया जा सकता है।Kirti-chakra-medal
शौर्य चक्र –
शौर्य चक्र भारत का शांति के समय वीरता का पदक है। यह सम्मान सैनिकों और असैनिकों को असाधारण वीरता या प्रकट शूरता या बलिदान के लिए दिया जाता है। यह मरणोपरान्त भी दिया जा सकता है। वरियता में यह कीर्ति चक्र के बाद आता है।
अशोक चक्र –
सबसे विशिष्ट बहादुरी या कुछ बहादुर कृत्य के लिए, भूमि पर, समुद्र में या वायुमंडल में आत्म-बलिदान के लिए सम्मानित करने के लिए अशोक चक्र प्रदान किया जाता है ।
सम्राट अशोक शिलालेखों पर प्रायः एक चक्र (पहिया) बना हुआ है, इसे अशोक चक्र कहते हैं। यह चक्र धर्मचक्र का प्रतीक है। उदाहरण के लिये सारनाथ स्थित सिंह-चतुर्मुख (लॉयन कपिटल) एवं अशोक स्तम्भ पर अशोक चक्र विद्यमान है। भारत के राष्ट्रीय ध्वज में अशोक चक्र को स्थान दिया गया है।
परम विशिष्ट सेवा मेडल –
परम विशिष्ट सेवा मेडल (पीवीएसएम) ,भारत का एक सैन्य पुरस्कार है। इसका गठन 1960 में किया गया था  और तब से आज तक, यह शांति के लिए और सेवा क्षेत्र में सबसे असाधारण कार्य (मरणोपरांत भी ) सम्मानित किया जाता है। भारतीय सशस्त्र बलों सहित सभी रैंकों के लिए ,प्रादेशिक सेना, सहायक और रिजर्व बलों, नर्सिंग अधिकारियों और अन्य सदस्यों के नर्सिंग सेवाओं और अन्य विधिवत् गठित सशस्त्र बल इस पदक के पात्र है।
भारत- के साहित्य में दिये जाने वाले पुरस्कार –
साहित्य में दिये जाने वाले पुरस्कार –
ज्ञानपीठ पुरस्कार –
ज्ञानपीठ पुरस्कार भारतीय ज्ञानपीठ न्यास द्वारा भारतीय साहित्य के लिए दिया जाने वाला सर्वोच्च पुरस्कार है , 22 मई 1961 को भारतीय ज्ञानपीठ पुरस्कार का जन्म हुआ |
साहित्य अकादमी पुरस्कार –
साहित्य अकादमी पुरस्कार भारत में एक साहित्यिक सम्मान है, जो साहित्य अकादमी प्रतिवर्ष भारत की अपने द्वारा मान्यता प्रदत्त प्रमुख भाषाओं में से प्रत्येक में प्रकाशित सर्वोत्कृष्ट साहित्यिक कृति को पुरस्कार प्रदान करती है। भारतीय संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल 22 भारतीय भाषाओं के अलावा ये राजस्थानी और अंग्रेज़ी भाषा; याने कुल 24 भाषाओं में प्रदान किया जाता हैं। पहली बार ये पुरस्कार सन् 1955 में दिए गए।
चलचित्र (फिल्मी जगत में ) में दिए जाने वाले पुरस्कार –
दादा साहेब फाल्के पुरस्कार –
भारत सरकार की ओर से दिया जाने वाला एक वार्षिक पुरस्कार है, जो  कि किसी व्यक्ति विशेष को भारतीय सिनेमा में उसके आजीवन योगदान के लिए दिया जाता है। इस पुरस्कार का प्रारंम्भ दादा साहेब फाल्के के जन्म शताब्दी वर्ष 1969 से हुआ। यह पुरस्कार उस वर्ष के अंत में रास्ट्रीय पुरस्कार के साथ प्रदान किया जाता है। इस पुरस्कार में 10 लाख रुपया और सुवणॅ कमल दिया जाता है।
राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार –
राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार फ़िल्मों के क्षेत्र में दिये जाने वाले भारत के काफी पुराने पुरस्कार हैं जो सन 1954 से दिये जा रहे हैं। यह पुरस्कार तीन खंडो मे प्रदान किये जाते है; फीचर फिल्म,गैर फीचर फिल्म और सिनेमा पर श्रेष्ठ लेखन|
खेल क्षेत्र में दिये जाने वाले पुरस्कार –
राजीव गांधी खेल रत्न –
राजीव गांधी खेल रत्न भारत में दिया जाने वाला सबसे बड़ा खेल पुरस्कार है। इस पुरस्कार को भारत के भूतपूर्व प्रधानमंत्री श्री राजीव गांधी के नाम पर रखा गया है। इस पुरस्कार मे एक पदक, एक प्रशस्ति पत्र और पाँच लाख रुपय पुरुस्कृत व्यक्ति को दिये जाते है। भारत सरकार द्वारा सम्मानित व्यक्तियों को रेलवे की मुफ्त पास सुविधा प्रदान की जाती है जिसके तहत राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार एवं ध्यानचंद पुरस्कार विजेता राजधानी या शताब्दी गाड़ियों में प्रथम और द्वितीय श्रेणी वातानुकूलित कोचों में फ्री यात्रा कर सकते हैं। इस पुरस्कार की स्थापना 1991-92 में हुई इसके प्रथम विजेता विश्वनाथन आनंद थे |list-of-rajiv-gandhi-sports-ratna-award-winners
अर्जुन पुरस्कार –
अर्जुन पुरस्कार खिलाड़ियों को दिये जाने वाला एक पुरस्कार है जो भारत सरकार द्वारा खेल के क्षेत्र मे उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिये दिया जाता है। इस पुरस्कार का प्रारम्भ 1961 में हुआ था। पुरस्कार स्वरूप पाँच लाख रुपये की राशि, अर्जुन की कांस्य प्रतिमा और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है।
द्रोणाचार्य पुरस्कार –
द्रोणाचार्य पुरस्कार 1985 में प्रारंभ किये गये थे। यह पुरस्कार खिलाड़ियों और टीमों को प्रशिक्षण प्रदान करने में उत्कृष्ट कार्य करने वाले जाने माने खेल प्रशिक्षकों को प्रदान किये जाते हैं। द्रोणाचार्य पुरस्कार के अंतर्गत गुरु द्रोणाचार्य की प्रतिमा, प्रमाणपत्र, पारंपरिक पोशाक और पाँच लाख रुपये का नकद पुरस्कार दिया जाता है। हर साल अधिकतम 5 खिलाड़ियों को इस पुरस्कार से सम्मानित किया जाता है।
ध्यानचंद पुरस्कार –
ध्यानचंद पुरस्कार खेल-कूद में जीवनभर आजीवन उपलब्धि के लिए 2002 में शुरू किया गया सर्वोच्च पुरस्कार है। ध्यानचंद पुरस्कार महान् भारतीय हॉकी खिलाड़ी ध्यानचंद के नाम पर है. ध्यानचंद पुरस्कार अपने शानदार खेल में खेल-कूद के क्षेत्र में योगदान करने और सक्रिय खेल जीवन से अवकाश प्राप्त करने के बाद भी खेल-कूद को बढ़ावा देने के लिए योगदान जारी रखने के लिए दिया जाता है।ध्यानचंद पुरस्कार प्राप्त करने वालों को एक प्रतिमा, प्रमाणपत्र, पारंपरिक पोशाक और पाँच लाख रुपये नकद दिये जाते हैं। हर साल ज़्यादा से ज़्यादा तीन खिलाड़ियों को इस पुरस्कार से सम्मानित किया जाता है
राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन पुरस्कार –
राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन पुरस्कार खिलाड़ियों और खेल प्रशिक्षकों के अलावा अन्य लोगों द्वारा खेल-कूद के विकास में योगदान करने वालों को प्रोत्साहित करने के लिए दिया जाता है। इस पुरस्कार को सरकार द्वारा वर्ष 2009 से प्रारंभ किया है। राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन पुरस्कार की चार श्रेणियाँ होती हैं जिनके नाम हैं:

  • सामुदायिक खेल-कूद विकास
  • उत्कृष्ट खेल अकादमियों को प्रोत्साहन
  • प्रतिभाशाली खिलाड़ियों को सहायता
  • रोज़गार

प्रत्येक श्रेणी के अंतर्गत पुरस्कार के रूप में मानपत्र और ट्रॉफी प्रदान की जाती है।राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन पुरस्कार में किसी प्रकार की नकद इनाम नहीं दिया जाता।

विज्ञान और प्रोधोगिकी के लिए दिये जाने वाले पुरस्कार –
शान्ति स्वरूप भटनागर पुरस्कार –
शान्ति स्वरूप भटनागर पुरस्कार का प्रारम्भ सुप्रसिद्ध भारतीय वैज्ञानिक डा. शांति स्वरूप भटनागर की स्मृति में 1957 ई. से किया गया है। यह पुरस्कार भारतीय औद्योगिक तथा वैज्ञानिक अनुसंधान परिषद द्वारा दिया जाता है। यह पुरस्कार वार्षिक है। यह पुरस्कार भारतीय औद्योगिक तथा वैज्ञानिक अनुसंधान परिषद द्वारा उल्लेखनीय एवं असाधारण अनुसंधान, जीववैज्ञानिक, रासायनिक,पर्यावरणीय, सागर एवं ग्रह के गहन अध्ययन, अभियांत्रिक, गणित, चिकित्सा एवं भौतिक विज्ञान के क्षेत्रों में दिया जाता हैं। इस पुरस्कार का मूल उद्देश्य विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में उल्लेखनीय एवं असाधारण प्रतिभा के धनियों को सामने लाना है।
मौलिक भौतिक पुरस्कार –
मौलिक भौतिक पुरस्कार (अंग्रेजी: The Fundamental Physics Prize) मौलिक भौतिकी पुरस्कार फाउंडेशन  के द्वारा मौलिक अनुसंधान के क्षेत्र में भौतिकविदों को दिए जाने वाला सबसे बड़ा पुरस्कार है। भारतीय वैज्ञानिक अशोक सेन यह पुरस्कार प्राप्त करने वाले भारत के पहले वैज्ञानिक हैं। इस पुरस्कार की स्थापना इंटरनेट उद्यमी यूरी मिलनर द्वारा जुलाई, 2012 को की गई थी। पुरस्कार के रूप में लगभग 16 करोड़ रुपए की धनराशि दी जाती है। शिक्षा के क्षेत्र में यह दुनिया का सबसे बड़ा पुरस्कार है। पुरस्कार में दी जाने वाली रकम ‘नोबेल पुरस्कार’ के साथ मिलने वाली पुरस्कार राशि का तीन गुना है। भारत के सैद्धांतिक भौतिकशात्र के वैज्ञानिक अशोक सेन को ‘मौलिक भौतिक पुरस्कार’ 31 जुलाई, 2012 को दिया गया था। स्ट्रिंग थ्योरी पर शोध करने वाले वैज्ञानिक अशोक सेन यह पुरस्कार प्राप्त करने वाले देश के पहले वैज्ञानिक हैं।

दोस्तों अगर आपको किसी भी प्रकार का सवाल है या ebook की आपको आवश्यकता है तो आप नीचे comment कर सकते है. आपको किसी परीक्षा की जानकारी चाहिए या किसी भी प्रकार का हेल्प चाहिए तो आप comment कर सकते है. हमारा post अगर आपको पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ share करे और उनकी सहायता करे.

You May Also Like This

अगर आप इसको शेयर करना चाहते हैं |आप इसे Facebook, WhatsApp पर शेयर कर सकते हैं | दोस्तों आपको हम 100 % सिलेक्शन की जानकारी प्रतिदिन देते रहेंगे | और नौकरी से जुड़ी विभिन्न परीक्षाओं की नोट्स प्रोवाइड कराते रहेंगे |

Disclaimer:currentshub.com केवल शिक्षा के उद्देश्य और शिक्षा क्षेत्र के लिए बनाई गयी है ,तथा इस पर Books/Notes/PDF/and All Material का मालिक नही है, न ही बनाया न ही स्कैन किया है |हम सिर्फ Internet पर पहले से उपलब्ध Link और Material provide करते है| यदि किसी भी तरह यह कानून का उल्लंघन करता है या कोई समस्या है तो Please हमे Mail करे- currentshub@gmail.com

loading...

About the author

Shubham yadav

आपकी तरह मै भी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करता हूँ। इस वेबसाइट के माध्यम से हम एसएससी , आईएएस , रेलवे , यूपीएससी इत्यादि परीक्षाओं की तैयारी करने वाले छात्रों की मदद कर रहे हैं और उनको फ्री अध्ययन सामग्री उपलब्ध करा रहे हैं | इस वेब साईट में हम इन्टरनेट पर ही उपलब्ध शिक्षा सामग्री को रोचक रूप में प्रकट करने की कोशिश कर रहे हैं | हमारा लक्ष्य उन छात्रों को प्रतियोगी परीक्षाओं की सभी किताबें उपलब्ध कराना है जो पैसे ना होने की वजह से इन पुस्तकों को खरीद नहीं पाते हैं और इस वजह से वे परीक्षा में असफल हो जाते हैं और अपने सपनों को पूरे नही कर पाते है, हम चाहते है कि वे सभी छात्र हमारे माध्यम से अपने सपनों को पूरा कर सकें। धन्यवाद..
Credits-Pradeep Patel CEO of www.sarkaribook.com

Leave a Comment