Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
कर्रेंट्स अफेयर

एबेल पुरस्कार-2019 विजेता बनी करेन उहलेनबेक

दूसरों के साथ शेयर कीजिये
एबेल पुरस्कार-2019
एबेल पुरस्कार-2019

एबेल पुरस्कार-2019 विजेता बनी करेन उहलेनबेक

प्रश्न – एबेल पुरस्कार जीतने वाली प्रथम महिला कौन बनी है?
(A) प्रो. सर एंड्रयू जे. विल्स
(B) करेन उहलेनबेक
(C) जॉन एफ. नैश
(D) लुबईस निरेनबर्ग
उत्तर-(B)
 
अमेरिका की करेन उहलेनबेक (Karen Uhlenbeck) को एबेल पुरस्कार 2019 दिया गया है। गणित (Mathematics) के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान के लिए दिए जाने वाला एबेल पुरस्कार पहली बार किस महिला को दिया गया है। उन्हें यह पुरस्कार जिओमैट्रिक एनालायसिस और गौज थियोरी के लिए दिया गया। एबेल पुरस्कार कमेटी के चेयरमैन हंस मुंठे कास ने बताया कि गणितीय परिदृश्य को नाटकीय रूप से बदलने के लिए करेन को 2019 का एबेल पुरस्कार दिया गया। उनके सिद्धांत गणित के क्षेत्र में क्रांाति लाने वाले है। इन सिद्धांतों से जिओमैट्रिक के आयामों की समस्याएं सुलझाने में मदद मिली है। 76 वर्ष की करेन प्रिंसटन यूनिवर्सिटी में सीनियर रिसर्च स्कॉलर है।

बतादें कि एबेल पुरस्कार (Abel Prize) की शुरूआत नॉर्वे के सबसे प्रसिद्ध गणितज्ञ ‘नील्स हेनरिक एबल’ के सम्मान में 23 अगस्त 2001 को हुई थी। हर वर्ष नॉर्वे की सरकार इसे प्रदान करती है। इस पुरस्कार के तहत 60 लाख नार्वेजियन क्रोनर (6 Million Norwegian Kroner) अर्थात 7 लाख 76 हजार अमेरिकी डॉलर के समतुल्य पुरस्कार राशि प्रदान की जाती है। जिसके लिए नील्स हेनरिक एबेल मेमोरियल फंड की स्थापना 1 जनवरी, 2002 को नॉर्वे में की गई थी।

वर्ष 2003 से अब तक एबल पुरस्कार विजेताओं की सूची– 
वर्ष विजेता व देश का नाम उपलब्धि
2019 करेन उहलेनबेक,अमेरिका जिओमैट्रिक एनालायसिस और गौज थियोरी के लिए।
2018 रॉबर्ट पी. लांगलैंड्स,कनाड़ा रिप्रेसेंटेशन थ्योरी से नंबर थ्योरी को जोड़ने वाले प्रोजेक्ट के लिए।
2017 यवेस मेयर, फ़्रांस तरंगिकाओं (छोटे लहरों) के गणितीय सिद्धांत के विकास में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका के लिए।
2016 एंड्रयू विल्स, यूनाइटेड किंगडम अर्द्ध-स्थायी (semi stable) दीर्घवृत्तीय वक्र के लिए मॉड्युलरिटी अनुमान के माध्यम से फर्मट के अंतिम प्रमेय के शानदार प्रमाण के द्वारा संख्या सिद्धांत में एक नए युग की शुरूआत करने के लिए।
2015 जॉन एफ नैश, संयुक्त राज्य अमेरिका; जूनियर लुई निरेनबर्ग,  कनाडा ज्यामितीय विश्लेषण के लिए गैररेखीय आंशिक अंतर समीकरणों के सिद्धांत और उनके अनुप्रयोगों में अभूतपूर्व और मौलिक योगदान देने के लिए।
2014 याकॉव सीनाई, रूस / संयुक्त राज्य अमेरिका गतिशील प्रणालियों, एर्गोडिक सिद्धांत और गणितीय भौतिकी के क्षेत्र में मौलिक योगदान देने के लिए।
2013 पियरे डेलिग्ने, बेल्जियम बीजीय रेखागणित और संख्या सिद्धांत पर उसके परिवर्तनकारी प्रभाव, प्रतिनिधित्व सिद्धांत और संबंधित क्षेत्रों में महत्वपूर्ण योगदान देने के लिए।
2012 एंड्रे ज़ेमेरेडी, हंगरी / संयुक्त राज्य अमेरिका असंतत गणित और सैद्धांतिक कंप्यूटर विज्ञान में योगदान के लिए और योज्य/संकलन (additive) संख्या सिद्धांत और एर्गोडिक सिद्धांत (ergodic theory) पर इन योगदानों के गहरा और स्थायी प्रभाव की पहचान करने के लिए।
2011 जॉन मिलनॉर, संयुक्त राज्य अमेरिका टोपोलॉजी, ज्यामिति और बीजगणित में उल्लेखनीय खोजों के लिए।
2010 जॉन टेट, संयुक्त राज्य अमेरिका संख्याओं के सिद्धांत पर अपने विस्तृत और स्थायी प्रभाव के लिए।
2009 मिखाइल ग्रोमोव, रूस / फ्रांस ज्यामिति में क्रांतिकारी योगदान देने के लिए।
2008 जॉन जी थॉम्पसन, संयुक्त राज्य अमेरिका; जैक्स टिट्स, फ्रांस बीजगणित में गहन उपलब्धियों के लिए और विशेष रूप से आधुनिक समूह सिद्धांत को आकार देने के लिए।
2007 एस. आर. श्रीनिवास वर्धन, भारत/संयुक्त राज्य अमेरिका प्रायिकता सिद्धांत में योगदान देने के लिए और विशेष रूप से बड़े विचलन के एक एकीकृत सिद्धांत बनाने के लिए।
2006 लैनर्ट कार्लसन, स्वीडन हार्मोनिक विश्लेषण और चिकनी गतिशील प्रणालियों के सिद्धांत के लिए उनके गहन और महत्वपूर्ण योगदान के लिए।
2005 पीटर लैक, हंगरी/संयुक्त राज्य अमेरिका आंशिक विभेदक समीकरणों के सिद्धांत तथा उनके कार्यान्वयन के लिए और इन समीकरणों की गणना हेतु महत्वपूर्ण योगदान के लिए।
2004 माइकल अतियाह, यूनाइटेड किंगडम और इसाडोर सिंगर, संयुक्त राज्य अमेरिका सूचकांक प्रमेय की खोज और प्रमाण के लिए, टोपोलॉजी, ज्यामिति और उसके विश्लेषण को एक साथ लाने के लिए तथा गणित और सैद्धांतिक भौतिकी के बीच समन्वय स्थापित करने हेतु उनकी उत्कृष्ट भूमिका के लिए।
2003 जीन पियरे सेर्रे, फ्रांस गणित के कई हिस्सों जैसे टोपोलॉजी, बीजीय रेखागणित और संख्या सिद्धांत के आधुनिक रूप को आकार देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए।

Man Booker Prize Winners List 1969 to 2019: Download PDF

Note: इसके साथ ही अगर आपको हमारी Website पर किसी भी पत्रिका को Download करने या Read करने या किसी अन्य प्रकार की समस्या आती है तो आप हमें Comment Box में जरूर बताएं हम जल्द से जल्द उस समस्या का समाधान करके आपको बेहतर Result Provide करने का प्रयत्न करेंगे धन्यवाद।

You May Also Like This

अगर आप इसको शेयर करना चाहते हैं |आप इसे Facebook, WhatsApp पर शेयर कर सकते हैं | दोस्तों आपको हम 100 % सिलेक्शन की जानकारी प्रतिदिन देते रहेंगे | और नौकरी से जुड़ी विभिन्न परीक्षाओं की नोट्स प्रोवाइड कराते रहेंगे |

Disclaimer:currentshub.com केवल शिक्षा के उद्देश्य और शिक्षा क्षेत्र के लिए बनाई गयी है ,तथा इस पर Books/Notes/PDF/and All Material का मालिक नही है, न ही बनाया न ही स्कैन किया है |हम सिर्फ Internet पर पहले से उपलब्ध Link और Material provide करते है| यदि किसी भी तरह यह कानून का उल्लंघन करता है या कोई समस्या है तो Please हमे Mail करे- currentshub@gmail.com

About the author

shubham yadav

आपकी तरह मै भी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करता हूँ। इस वेबसाइट के माध्यम से हम एसएससी , आईएएस , रेलवे , यूपीएससी इत्यादि परीक्षाओं की तैयारी करने वाले छात्रों की मदद कर रहे हैं और उनको फ्री अध्ययन सामग्री उपलब्ध करा रहे हैं | इस वेब साईट में हम इन्टरनेट पर ही उपलब्ध शिक्षा सामग्री को रोचक रूप में प्रकट करने की कोशिश कर रहे हैं | हमारा लक्ष्य उन छात्रों को प्रतियोगी परीक्षाओं की सभी किताबें उपलब्ध कराना है जो पैसे ना होने की वजह से इन पुस्तकों को खरीद नहीं पाते हैं और इस वजह से वे परीक्षा में असफल हो जाते हैं और अपने सपनों को पूरे नही कर पाते है, हम चाहते है कि वे सभी छात्र हमारे माध्यम से अपने सपनों को पूरा कर सकें। धन्यवाद..
Credits-Pradeep Patel CEO of www.sarkaribook.com

Leave a Comment